BIRTHDAY SHAYARI…वो हवा..ज़िक्र तेरा

एहसास होता है आजमाइश का पर प्यार समंनदर है जिसमे सब ढल जाता है…..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here