Home Dard Shayari दर्द-ए-दिल की दस्तान | Dard Bhari Shayri In Hindi | Mehfil-E-Shayri

दर्द-ए-दिल की दस्तान | Dard Bhari Shayri In Hindi | Mehfil-E-Shayri

0
दर्द-ए-दिल की दस्तान | Dard Bhari Shayri In Hindi | Mehfil-E-Shayri

हैल्लों दोस्तो !
🙏स्वागत हैं आपको आपके ही चैनल “महफ़िल-ए-शायरी” में,

मैं 👉”कमरूद्दिन अंसारी”👈 आज आपके लिए बहुत ही लाजवाब शायरी लेकर आया हूँ। उम्मीद करता हूँ कि आपको बहुत😎 पसंद आयेगी।

मेरे लिए ❤️दिल में थोड़ा सा भी प्यार हो तो वीडियों के नीचे के 👍LIKE बटन को दबाइयें और दोस्तों के साथ ♻️ SHARE करके मेरा साथ दीजिए।

हर प्रकार की ✍️शायरी , गजल व मोटिवेशनल वीडियों को देखने के लिए लाल रंग के 🙏👉SUBSCRIBE 👈 बटन को दबाएँ और साथ ही 🔔घंटी वाला बटन भी दबाएँ , ताकि आने वाली वीडियों की सुचना आपको सबसे पहले मिल जाए।

Subscribe :-

*******************************************
* E-MAIL :- [email protected] *
*******************************************
👉आज की शायरी:-

यह ग़ज़लों की दुनिया भी अजीब है,
यहाँ आँसुओं का भी जाम बनाया जाता है,
कह भी देते हैं अगर दर्द-ए-दिल की दास्तान,
फिर भी वाह-वाह ही पुकारा जाता है।।

ज़हर को दूध समझ कर कैसे पिया जाये,
दिल हो अगर ज़ख़्मी तो कैसे सिया जाये,
जब खुद पर ही यकीन नहीं रहा मुझे,
तो तुझ पर यकीन अब कैसे किया जाये,
ज़िन्दगी है मेरी बदहाल न जाने कब से,
बदहाल हुई ज़िदंगी को अब कैसे जिया जाये।।

क्या प्यार में सोचा था, क्या प्यार में पाया हैं,
तुझको मिलाने की चाहत में, खुद को मिटाया हैं,
इस पर भी कोई इल्ज़ाम, ना तुझ पर लगाया हैं,
मेरी ही ख्वाईशों ने, आज मुझे अर्थी पर सुलाया हैं।।

#mehfileshayri
#dardbharishayri
#hindishayri

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here